5 (100%) 2 votes

सोशल बुकमार्क एक लिंक होता है जिसे लोग दूसरों के देखने के लिए सोशल वेबसाइटों पर पोस्ट करते हैं क्योंकि उन्हें वे रोचक, मूल्यवान या बढ़िया लगते हैं। फिर अन्य लोग आपके सोशल बुकमार्क देख सकते हैं, आपने जो बुकमार्क किया है उसे पढ़ सकते हैं और इसे फिर से साझा (Share) कर सकते हैं और इस तरह कम समय मे आपके लिंक को या वेबसाइट को काफी लोगो तक पहुंचाया जा सकता है।

एक तरह से, सोशल बुकमार्क पहले से ही आपके निजी कंप्यूटर पर सहेजे गए बुकमार्क की तरह ही हैं। दोनों के बीच अंतर यह है कि प्राइवेट बुकमार्क आपके अपने ब्राउज़र पर सहेजे (Save) जाते हैं जबकि सोशल बुकमार्क वेब पर सहेजे जाते हैं जहाँ उन्हें आसानी से साझा (Share) किया जा सकता है।

सोशल बुकमार्किंग करते समय किन बातो का ध्यान रखना आवश्यक है।

बुकमार्क करने वाली शीर्ष (Top) साइटों को खोजना: सबसे पहले, आपको उन वेबसाइटों को लक्षित (Target) करना होगा जिससे आपका मूल्य बढ़े। मैं उन साइटों का चयन करने का सुझाव देता हूँ जो गूगल की नज़रों में  High Authority रखती हो।

शीर्षकों में बदलाव करें: एक बुकमार्क की पहली बात उसका शीर्षक होता है। अधिकांश समय, लिंक को शीर्षक में ऐंकर (Anchor) किया जाता है। इसलिए हमें इस बारे में गंभीर होना ज़रूरी है अन्यथा यह आपको नकारात्मक seo की तरफ़ ले जा सकता है।

हर बार Unique Description लिखें: हर बार नयी और भिन्न प्रकार की Description लिखें। क्योंकि मात्रा (Quantity) से फ़र्क नहीं पड़ता, पांच डुप्लिकेट की तुलना में एक Unique बुकमार्क बेहतर होता है।

संबंधित टैग (Tag) जोड़ें: बुकमार्क बनाने में एक और कदम है टैग को जोड़ना। इसलिए, आप अधिक Targeted Traffic प्राप्त करने के लिए उनका उपयोग कर सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि टैग कीवर्ड्स नहीं हैं। इसलिए उनको अत्यधिक बढ़ाने की गलती न करें। सिर्फ प्रासंगिक रहिए।

Nofollow और Dofollow को मिलाएं: Social Bookmarking की साइटों में से, कुछ Nofollow तथा कुछ Dofollow होती हैं। हम मानते हैं कि Dofollow लिंक बेहतर होते हैं, इसलिए हमें केवल उन्हें ही Target करना चाहिए। लेकिन कभी भी ऐसी गलती मत कीजिएगा। Penguin लिंक प्रोफ़ाइल को Target करता हैं, केवल Natural लिंक वाली प्रोफ़ाइल ही बच सकती हैं। इसलिए एक समान अनुपात रखना सुनिश्चित करें। यह आपकी राय के अनुसार 50-50 या 60-50 हो सकता है।

एक ही डोमेन से बहुत सारे लिंक से बचें: एक और बड़ी गलती हम करते हैं कि हम कभी नहीं गिनते कि एक बुकमार्किंग साइट से हमारे कितने लिंक हैं। सच तो यह है कि, उससे आपकी स्वाभाविक लिंक प्रोफ़ाइल को गंभीर रूप से नुकसान हो सकता है। कृपया ध्यान रखें कि गूगल के अनुसार, एक डोमेन से कई सारे लिंक को एक ही गिना जाता है। इसलिए आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए। बेहतर विश्लेषण के लिए, आप गूगल वेबमास्टर टूल (Google Webmaster Tool) का उपयोग कर सकते हैं।

सीमित समय में Limited बैकलिंक बनाएँ: गूगल आपके बैकलिंक ट्रैक कर सकता है कि लिंक कितनी तेज़ी से बढ़ रहे हैं और वे कितनी तेज़ी से घट रहे हैं। इसलिए अगर आप एक बार में बड़े पैमाने पर लिंक बनाते हैं, तो इससे उन्हें एक नकारात्मक संकेत (negative signal) मिल सकता है और गुगल आपकी वेबसाइट को Penalize कर सकता है अगर आप फिर भी नही माने तो गुगल आपकी वेबसाइट को De-index कर देगा।

सोशल बुकमार्किंग कैसे करते हैं। बिन्दूवार (Step by Step)  व्याख्या।

 

सोशल बुकमार्किंग से आपके व्यवसाय को क्या लाभ होगा ?

सोशल बुकमार्किंग आपके व्यवसाय को विकसित करने में निम्नलिखित मदद करता हैं।

  • सोशल बुकमार्किंग साइटों के ज़रिए आपकी वेबसाइट के पेज तेज़ी से इंडेक्स (Index) होते है।
  • सोशल बुकमार्किंग साइटों के ज़रिए आपकी वेबसाइट के ट्रैफ़िक में वृद्धि होती है।
  • सोशल बुकमार्किंग साइटों के ज़रिए निजी ब्रांडिंग (Personal Branding)
  • सोशल बुकमार्किंग साइटों के ज़रिए Quality/Relevant बैकलिंक बनते हैं।
  • गुगल में Keyword की Ranking भी अच्छी हो जायेगी।
  • Domain Authority और Page Authority में बढोत्तरी होगी।
  • जब आपकी वेबसाइट पर Traffic होगा तो नए क्लाइंट्स या ग्राहक भी बढेगें।
  • सोशल बुकमार्किंग व्यवसाय को खोजने में लोगों की मदद करता है।

 निष्कर्ष

जब भी आप किसी सोशल बुकमार्किंग साइट पर कुछ सबमिट करने के बारे में सोच रहे हों, तब यह सुनिश्चित करें कि वह अच्छी सामग्री हो। अपने आप से सवाल पूछें कि “क्या इसे पढ़ना मुझे अच्छा लगेगा?” अगर जवाब ना है, तो संभावना नहीं है कि किसी अन्य को वह अच्छा लगे और अगर लोगों को पसंद नहीं आता तो वे दूसरों को उसका सुझाव भी नहीं देते, उससे भी बुरा यह हो सकता है कि वे उसके लिए नकारात्मक मत दें। मुख्य बात यह है कि आपकी सामग्री को कुछ ऐसा बनाया जाए वह इंटरनेट पर मूल्य बढ़ाये, ना कि स्पैम।

जब आप किसी सोशल बुकमार्किंग साइट पर कुछ सबमिट करें तब यह निश्चित करें कि आप कुछ अनुसंधान (Research) करते हैं और उसे सही जगह प्रस्तुत करते हैं। सोशल बुकमार्किंग साइटों में काफी श्रेणियां (categories) होती हैं अगर आप गलत श्रेणी (category) चुनते हैं, तो संभावना है कि आपने जो पोस्ट किया है उस में किसी की रुचि न हो, बुकमार्किंग करते समय अच्छी सामग्री (Content) के साथ सही category चुनें और आप देखेंगे कि आपकी वेबसाइट का ट्रैफ़िक आसमान को छू रहा है।

नोट – हम अपने सभी visitors से अनुरोध करते है की अगर आप को ये ब्लॉग हेल्पफुल लगा हो तो अपने सभी मित्रो के साथ सांझा करे और देखते रहे और सीखते रहे धन्यवाद् |

SHARE
Previous article2016 में शीर्ष 20 गूगल SEO Ranking कारक हिन्दी में
Next articleक्लासिफाइड विज्ञापन (Classified Submission) क्या है? हिन्दी में
हेल्लो दोस्तों!मेरा नाम Nisha Sharma है, और मेरा experience डिजिटल मार्केटिंग में 3 साल से है, मुझे डिजिटल मार्केटिंग से Related Knowledge शेयर करना बहुत पसंद है जिससे आप लोगो को कुछ सिखने को मिल सके! मेरे जरिये अगर आप कुछ सीख पाएंगे तो ये मेरे लिए बहुत ही ख़ुशी की बात होगी! मै डिजिटल बादशाह में डिजिटल मार्केटिंग की सारी knowledge शेयर करुँगी जिससे आपको बहुत कुछ सिखने को मिलेगा तो दोस्तों अगर आप कुछ सीखना चाहते है तो हमारे साथ जुड़े रहें!

5 COMMENTS

    • हमारे लेख को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद नवीनतम जानकारी लगातर प्राप्त करने के लिए हमारे Newsletter को Subscribe करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here